Swar Yoga:  स्वर योग क्या है? ,स्वर योग विज्ञान का महत्व

Swar yoga

प्राचीन योग ऋषियों ने नथुनों से श्वास गति में होने वाले परिवर्तन के बारे में पूर्ण विज्ञान हमारे सामने रखा था जिसे स्वर योग कहा जाता हैं। स्वर योग के बारे में प्राचीन काल में लिखे गए आलेख “शिव स्वरोदय” के अनुसार श्वास लेते समय …

Read more

kapalbhati pranayam: कपालभांति प्राणायाम से मिलते है यह अद्भुत फायदे

kapalbhati pranayam

कपालभांति (kapalbhati pranayam) शरीर की अशुद्धियों को दूर करती हैं। कपाल शब्द का संस्कृत में अर्थ है माथा और भांति का अर्थ है चमक अत: कपालभांति का शाब्दिक अर्थ हैं शरीर और मन की शुद्धि द्वारा चेहरे पर चमक। कपालभांति योग अभ्यास में कई अलग-अलग …

Read more

ब्लड सर्कुलेशन और रीढ़ की हड्डी के लिए फायदेमंद होता है मेडिटेशन/Om jaap

Om jaap

ओम को हिन्दू धर्म में महामंत्र माना गया है। शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि संपूर्ण सृष्टि का वास इस जाप में है और यही कारण है कि इसका हमेशा जप करना ईश्वर को प्रसन्न करने का सरल तरीका है। ओम केवल भारतीय संस्कृति …

Read more

Ashtanga Yoga: जानिये अष्टांग योग की शक्ति और फायदे

Yoga In Hindi

योग/Yoga का मतलब होता है स्वयं से जुड़ाव। योग हमारे मन की व्रतियों को स्थिर करता है। चित/मन की वृत्तियों के रुक जाने पर आत्मा अपने स्वरूप में स्थिर हो जाती है। योग को मन और शरीर के अभ्यास के रूप में जाना जाता है। …

Read more

कैसे करे सूर्य-भेदन प्राणायाम विधि,महत्व,लाभ – surya bhedi pranayam

सूर्य-भेदन

यह पंचतत्व से बना भौतिक शरीर जल्द ही नष्ट हो जाता है परन्तु यदि इसे प्राणायाम की अग्नि में खूब तपाया जाए एवं अभ्यास किया जाए तो इसमें स्थिरता आ जाती है। इस स्थिति में उसे प्राणायाम के अभ्यासों तथा अपने बारे में विशेष ज्ञान …

Read more

इस विधि से करे उज्जायी प्राणायाम और लाभ – ujjayi pranayama

ujjayi pranayama

यौगिक प्राणायाम में उज्जायी प्राणायाम बहुत रुचिकर और लाभदायक तकनीकें हैं। एकाग्रता बढाने में और ध्यानावस्था को प्राप्त करने में उज्जायी प्राणायाम मदद करता हैं। जाप या उच्चार से उत्पन्न होने वाली तरंगें मनोदशा बदलने का आधारभूत उपकरण हैं। उज्जायी शब्द का अर्थ है जीतने …

Read more

Yogasan: व्याधियों के निवारण के लिए शुरू करे यह योगासन

योगासन

योगासन का अलग-अलग उद्देश्य हैं। स्वस्थ तन और मन पाने के लिए इनका अभ्यास किया जाना चाहिए है। अतः नियमित रूप से प्रतिदिन 1 घंटा योगासन व प्राणायाम के लिए निकालना अतिआवश्यक हो गया है।  उदाहरण के लिए, लोग वजन घटाने के लिए योग करते …

Read more

प्राणायाम करने का सही क्रम और! Pranayam के फायदे !

pranayam

प्राणायाम हमें तंत्रिका तंत्र को जानने में मदद करता है। प्राणायाम शब्द दो शब्दों से मिलकर बना हैं। प्राण और आयाम। इन्हें श्वास और नियंत्रण के रूप में जाना जाता है अर्थात श्वास की गति पर नियंत्रण। ऋषि पतंजलि ने कहा है कि प्राणायाम वास्तव …

Read more